MP के 2.68 लाख दूध उत्पादकों को दिए जाएंगे किसान क्रेडिट कार्ड

By | February 14, 2021

MP के 2.68 लाख दूध उत्पादकों को दिए जाएंगे किसान क्रेडिट

 MP के 2.68 लाख दूध उत्पादकों को दिए जाएंगे किसान क्रेडिट कार्ड देश में किसानों की आय बढ़ाने के लिए सरकार द्वारा पशु पालन एवं मछली पालन को बढ़ावा दिया जा रहा है दूध उत्पादक किसानों एवं पशुपालकों को ऋण की सुविधा उपलब्ध करवाने हेतु उन्हें किसान क्रेडिट कार्ड से भी जोड़ा जा रहा है किसान क्रेडिट कार्ड से जोड़ने के लिए सरकार द्वारा अभियान चलाया जा रहा है 

 मध्य प्रदेश के सहकारिता एवं लोक सेवा प्रबंधन मंत्री डॉ अरविंद सिंह भदौरिया ने बताया कि दूध सहकारी समितियों से संबंधित प्रदेश के 268000 दूध उत्पादकों के किसान क्रेडिट कार्ड बनाए जा रहे हैं इसके अंतर्गत पशु पालकों को पशु पालन के लिए एक लाख 60 हजार से 3 लाख तक का ऋण प्राप्त हो सकेगा उन्होंने बताया कि इस योजना के अंतर्गत जिनके पास भूमि नहीं है वह भी  ऋण प्राप्त करने के लिए पात्र होंगे

 अभी तक राज्य में किसान क्रेडिट कार्ड के तहत स्वीकृत ऋण 

 सहकारी केंद्रीय बैंकों द्वारा दूध उत्पादक समितियों के सदस्यों एवं अन्य पशुपालकों को उनकी क्रेडिट की महती आवश्यकता को देखते हुए क्रेडिट कार्ड उपलब्ध कराए जाने का अभियान प्रारंभ किया गया है

 अभी तक सहकारी बैंकों द्वारा से 6300 से अधिक पशुपालकों को “18 करोड 86 लाख KCC” स्वीकृत कि जा चुकी है  स्वीकृत प्रकरणों में से 3040 कृषकों को 8 करोड़ 39 लाख का ऋण वितरण भी किया जा चुका है

 मछली पालकों को भी दिया जा रहा है किसान क्रेडिट कार्ड 

सरकारी बैंकों द्वारा मत्स्य पालन करता को भी क्रेडिट कार्ड जारी किए जाने का अभियान प्रारंभ किया गया है जिससे मछुआरों को क्रेडिट की आवश्यकता को पूरा किया जा सके अभी तक लगभग 662 मत्स्य पालक कृषक को 54 लाख ₹50000 की क्रेडिट कार्ड जारी किए जा चुके हैं जबकि 378 कृषक को 20 लाख ₹53000 का ऋण वितरण भी किया जा चुका है

 आत्मनिर्भर भारत के तहत किसान क्रेडिट कार्ड अभियान

 भारत सरकार एक विशेष अभियान के तहत देश भर में कुल 2.5 करोड़ किसानों को किसान क्रेडिट कार्ड देने का लक्ष्य रखा गया है जिसमें दूध उत्पादक पशुपालक, मछली पालन एवं किसान शामिल है योजना के तहत दूध उत्पादक कंपनियों से जुड़े 1.5 करोड़ डेयरी किसानों को क्रेडिट कार्ड उपलब्ध कराएगी 

पशुपालन एवं डेयरी विभाग ने इस अभियान को मिशन के रूप में लागू करने के लिए वित्तीय सेवा विभाग के साथ मिलकर सभी राज्य दूध महासंघ और दूसरों को पहले ही संयुक्त परिपत्र और KCCआवेदन प्रारूप जारी कर दिए हैं 

सरकार द्वारा पहले ही जानवरों को पालने डेयरी संबंधी गतिविधियों में ऋण की आवश्यकता को पूर्ण करने पक्षी मछली अन्य जलीय मछली को पकड़ने के लिए अल्पकालिक क्रेडिट हर्षिता की पूर्ति के लिए किसान कार्ड पर ऋण देने की योजना चल रही है 

जिन योजनाओं के पास जिन किसानों के पास पहले से ही किसान क्रेडिट कार्ड की सुविधा है वह पशुपालन एवं मछली पालन आदि गतिविधियों के लिए अल्पकालिक ऋण ले सकते हैं

 किसान क्रेडिट कार्ड KCC पर लगने वाला ब्याज

 KCC  योजना का उद्देश्य किसानों को कृषि गतिविधियों के लिए बिना किसी बाधा के समय पर उपलब्ध कराना था भारत सरकार द्वारा किसान क्रेडिट कार्ड के तहत किसानों को ब्याज पर 2% की आर्थिक सहायता देती है और समय पर ऋण चुकाने वाले किसानों को 3% की छूट देती है इस तरह KCC पर सालाना ब्याज दर 4% की आती है सरकार ने किसानों के हित में बड़े कदम उठाते हुए 2019 में KCC ब्याज दर में आर्थिक सहायता का प्रावधान शामिल करते हुए इसका लाभ डेयरी उद्योग समिति पशुपालकों एवं मछली पालन को भी देने की व्यवस्था सुनिश्चित की है साथ ही बिना गारंटी के दिए जाने वाले केसीसी ऋण की सीमा को एक लाख से बढ़ाकर 160000 कर दिया है 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *