Kusum Yojana Registration| राजस्थान कुसुम योजना

By | February 4, 2021

Kusum Yojana क्या है? तथा राजस्थान Kusum Yojana का क्या उद्देश्य है इस Yojana से क्या किसानों को लाभ होगा? तो हम इस आर्टिकल में इस योजना की संपूर्ण जानकारी प्राप्त करेंगे और जानेंगे की इस योजना का क्या उदेश्य है अर्थात सोलर पंप योजना क्या है इसके क्या लाभ है

Rajasthan Kusum Yojana क्या है?

कुसुम योजना(सौलर पम्प योजना ) को सर्वप्रथम केंद्र सरकार (वित्त मंत्री अरुण जेटली) के द्वारा शुरू किया था लेकिन बाद में राजस्थान सरकार ने भी इस योजना को प्रोत्साहन दिया और राज्य के किसानों को सोलर पंप योजना का लाभ प्रदान करना प्रारंभ किया।

ऐसी योजना के तहत राज्य सरकार और केंद्र सरकार ने ३ करोड़ पेट्रोल और डीजल सिंचाई पंपों को सोलर पंपों में बदलने का निर्णय लिया जिससे डीजल और पेट्रोल की खपत को कम किया जा सके और किसानो को इनसे होने वाले खर्चे से बचाया जा सके

देश के जो किसान सिंचाई के लिए जिन पम्पो को डीजल और पेट्रोल की मदद से चलाते थे उनको इस योजना के तहत सौर ऊर्जा से चलाया जाएगा तथा देशभर में योजना के पहले चरण में १.७५लाख पम्पो को जो पहले डीजल और पेट्रोल से चलाते थे उन्हें सौर ऊर्जा के द्वारा चलाया जायेगा।

कुसुम योजना 2021 न्यू अपडेट

इस योजना के अंतर्गत राज्य सरकार व केंद्र सरकार द्वारा 17.5 लाख डीजल पंप और 3 करोड़ खेती उपयोगी पंपों को आगे आने वाले 10 वर्षों में सौर ऊर्जा पंप में परिवर्तन किए जाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है

इस हेतु सरकार द्वारा राज्य के किसानों के खेतों में सोलर पंप लगवाने और सोलर उत्पाद में बढ़ावा देने के लिए प्रारंभिक बजट ₹50हजार करोड़ का आवंटित किया है तथा इस योजना के अंतर्गत बजट 2020-21 में राज्य के 20लाख किसानों को सौर ऊर्जा लगवाने में मदद की जाएगी

कुमकुम योजना के तहत किसानों को लाभ

  • सोलर पंप लगवाने के बाद किसान को दिन भर खेतों में सिंचाई करने के लिए पानी उपलब्ध हो जाएगा जिससे किसान अपने खेत की सिंचाई आसानी से कर आएगा
  • सोलर पंप लगवाने के बाद किसानों को मंथली या फिर सालाना बिजली का बिल कभी नहीं भरना पड़ेगा।
  • किसानों को सोलर पंप लगवाने के लिए केवल मात्र 10% राशि ही जमा करनी होती है उन्हें सोलर पंप की पूरी राशि देने की आवश्यकता नहीं है क्योंकि 30% धनराशि केंद्र सरकार द्वारा किसानों को दी जाती है और 30% धनराशि राज्य सरकार द्वारा तथा बची 30 % राशि नाबार्ड द्वारा दी जाती है।
  • Rajasthan Tarbandi Yojana | राजस्थान तारबन्दी योजना
  • राजस्थान कृषि यंत्र सब्सिडी योजना | योजना का लाभ कैसे लें

कुसुम योजना के तहत किस रेंज के पंप चलाए जा सकते हैं

कुसुम योजना के तहत केंद्र सरकार और राज्य सरकार द्वारा योजना में निर्धारित 3 से 7.5 एचपी के पम्प चलाए जा सकते हैं तथा इनके निर्धारित रुपए अलग-अलग हैं जैसे –

  • यदि किसान 3 एचपी का पंप सोलर सेट अपने खेत में लगाता है तो उन्हें ₹20549 तक का पूरा खर्चा आएगा जिसमें किसानों को 10% ही देने हैं।
  • यदि किसान 5 एचपी का पंप सोलर सेट अपने खेत में लगाता है तो उन्हें ₹33749 तक का पूरा खर्चा आएगा जिसमें किसानों को 10% ही देने हैं।
  • यदि किसान 7.5 एचपी का पंप सोलर सेट अपने खेत में लगाता है तो उन्हें ₹46687 तक का पूरा खर्चा आएगा जिसमें किसानों को 10% ही देने हैं।

ऊपर निर्धारित राशि किसान को डिमांड के रूप में जमा करवानी होगी कुसुम योजना के अंतर्गत राज्य के जो किसान अपने खेत में सोलर ऊर्जा सिस्टम लगवाने के लिए लोन ले रहे हैं वह लोन का भुगतान नकद नहीं कर सकते सौर ऊर्जा से बिजली उत्पाद कर किसान अन्य किसान या सरकार को ग्रेट पर देकर अतिरिक्त आमदनी करके लोन चुका सकते हैं।

Rajasthan Kusum Yojana
Rajasthan Kusum Yojana

Rajasthan Kusum Yojana में आवेदन कैसे करें

  • कुसुम योजना में आवेदन करने के लिए राज्य के लाभार्थी ऑफिशियल वेबसाइट पर जाकर ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं।
  • किसान अपने से ऑनलाइन आवेदन ना कर सके तो वह अपने पास में किसी ग्राहक सेवा केंद्र से भी ऑनलाइन आवेदन करवा सकता है।
  • ऑनलाइन आवेदन करने के लिए महत्वपूर्ण दस्तावेज जैसे आधार कार्ड, बैंक अकाउंट पासबुक, आय प्रमाण पत्र, मोबाइल नंबर, आवेदक का एड्रेस, पासपोर्ट साइज फोटो, इत्यादि।

अन्य योजनाएं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *