क्या जमीन बेच देने पर किसान को pm किसान सम्मान निधि योजना का लाभ मिलता है?

क्या जमीन बेच देने पर किसान को pm किसान सम्मान निधि योजना का लाभ मिलता है? किसान यदि अपनी जमीन को बेच देता है तो क्या ऐसी स्थिति में किसान को पीएम किसान सम्मान निधि योजना का लाभ मिलेगा?

क्या जमीन बेच देने पर किसान को pm किसान सम्मान निधि योजना का लाभ मिलता है?

  • 1 साल के लिए ही वैलिड होता है पीएम किसान सम्मान निधि योजना की लिस्ट जाने फिर से कैसे जुड़ता है ना पीएम किसान सम्मान निधि योजना में |
  • पीएम किसान सम्मान निधि योजना की लिस्ट किसी भी भूमि के ट्रांसफर वसीयत एवं लैंड रिकॉर्ड में बदलाव समेत आम संशोधन के आधार पर नई लिस्ट तैयार की जाती है
  • दिशा निर्देश के मुताबिक जिन किसानों की जमीन की स्थिति में कोई बदलाव नहीं हुआ है तो उस किसान को पीएम किसान सम्मान निधि योजना में वैसे ही निश्चित रखा जाता है अर्थात उसे जस्ट शट अप लिस्ट में शामिल कर लिया जाता है नई लिस्ट में|
  • देश के किसानों को 6 हजार देने वाली पीएम किसान सम्मान निधि योजना के तहत लाभार्थियों की सूची जारी की जाती हैं इस सूची को पीएम किसान स्कीम की वेबसाइट पीएम https://pmkisan.gov.in/ पर जाकर चेक कर सकते हैं
  • हालांकि यह लिस्ट भी अस्थाई रूप से होती है और इस सूची की वैलिडिटी या फिर इस सूची की अवधि 1 साल तक मान्य होती हैं और इसके बाद एक बार फिर से लिस्ट को अपडेट किया जाता है
  • पीएम किसान की ऑफिशियल वेबसाइट इन दिशानिर्देशों के मुताबिक राज्य और केंद्र शासित प्रदेशों की ओर से तैयार की गई लाभार्थियों की सूची की वैधता 1 साल के लिए ही होती है इसके बाद एक बार फिर से वेरिफिकेशन के बाद किसान की सूची वेबसाइट पर अपडेट करके अपलोड कर दी जाती है
  • किसी किसान की भूमि के ट्रांसफर वसीयत एवं लैंड रिकॉर्ड में बदलाव ना होने पर उस किसान का नाम लिस्ट रहता है तथा अहम संशोधन के आधार पर नई लिस्ट तैयार की जाती है
  • https://pmkisan.gov.in/ दिशा निर्देश के मुताबिक जिन किसानों की जमीन की स्थिति में कोई बदलाव नहीं हुआ है उन्हें जस का तस लिस्ट में शामिल कर लिया जाता है जब नई लिस्ट बनाई जाती है
  • इसके अलावा नए पात्र किसान को भी इस लिस्ट में शामिल कर दिया जाता है जो नई लिस्ट अपडेट करके बनाई जाती हैं|
  • उदाहरण के लिए मान लीजिए कि यदि किसान अपनी जमीन को किसी और व्यक्ति के हाथ बेच देता है तो फिर यह नोडल अधिकारी की जिम्मेदारी है कि वह अपडेट लिस्ट से ऐसे किसान को बाहर करता है
  • जमीन खरीदने वाला किसान यदि स्कीम का पात्र है तो उसे उसी में जगह दी जाती है अर्थात जो जमीन खरीदने वाला होता है वह किसान हैं और उस जमीन को खेती के अलावा और किसी भी काम में उपयोग नहीं लेता है तो उस किसान को नई लिस्ट में शामिल कर लिया जाता है
  • इसके अलावा यदि विक्रेता किसान कोई और भूमि है और वह अब भी इस स्कीम के तालाब का हकदार हैं तो फिर अन्य भूमि के रिकॉर्ड के आधार पर किसान को नई लिस्ट में जगह दी जाती है
  • लाभार्थी किसान की मौत के अलावा अन्य किसी मामले में जमीन ट्रांसफर होने की स्थिति में नोडल अधिकारी की ओर से जांच कर लिस्ट को फिर से अपलोड किया जाता है और उसमें अपडेट किया जाता है
  • यदि जिसके नाम पर भूमि आवंटित हुई है वह लाभ का पात्र हैं तो फिर उसे स्कीम की जगह दी जाती है यदि ऐसा नहीं है तो उस किसान को बाहर कर दिया जाता है

Leave a Comment